जनरल साइंस हिंदी | General science in hindi

Spread the love

जनरल साइंस हिंदी | General science in hindi: इस पोस्ट में जनरल साइंस के कुछ प्रश्ना और उनके उतर के बारे में बात करेंगे। इसमें हम साइंस के कुछ ऐसे सवाल लेने वाले है जिनके जवाब सभी जानना चाहते है।

Table of Contents

जनरल साइंस हिंदी | General science in hindi

सबसे बड़ी आंखें किस स्तनधारी प्राणी की होती है 

हिरण

कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) के उत्सर्जन में सर्वाधिक योगदान करने वाला देश है 

चीन

किस उद्योग में अभ्रक कच्चे माल के रूप मे प्रयुक्त होता है 

विद्युत

विद्युत प्रेस का आविष्कार किस ने किया था?

हेनऱी श़ीले ने

प्रेशर कुकर में खाना जल्द़ी पक जाता है क्योंकि?

प्रेशर कुकर के अन्दर दाब अधिक होता है

हर क्रिया के बराबर या विपरीत दिशा में एक प्रतिकिया होती है। 

यह न्यूटन का तीसरा नियम है

उगते या दुबते समय सूर्य लाल दिखाई देता है क्योकी? 

लाल रंग का प्रकीर्णन बहुत कम होता है

Note: प्रकीर्णन (Scattering) एक सामान्य भौतिक प्रक्रिया है जिसमें कोई विकिरण (जैसे प्रकाश, एक्स-किरण आदि) माध्यम के किसी स्थानीय अनियमितता के कारण अपने सरलरेखीय मार्ग से विचलित किया जाता है।

रेडिओ सक्रियता की खोज किसने की थी?

हेनऱी बेकरल ने

कारों, ट्रकों और बसों में ड्राइवर की स़ीट के बगल में कोनसा दर्पण लगा होता है? 

उत्तल दर्पण Curved mirror (गोलीय दर्पण) 

Note: जिस दर्पण का परावर्तक तल बाहर की तरफ उभरा रहता है उसे उत्तल दर्पण कहते हैं।

वनस्पति विज्ञान के जनक कौन हैं?

थियोफ्रेस्टस

Note: थिओफ्रैस्टस (Theophrastus) ग्रीस देश के प्रसिद्ध दार्शनिक एवं प्रकृतिवादी थे। इनका जन्म ईसा पूर्व ३७२ में, लेज़बासॅ (Lesbos) द्वीप के एरेसस (Eresus) नामक नगर में हुआ था तथा मृत्यु ईसा पूर्व २८७ में हुई। लेज़बॉस में ही इन्होंने ल्युसिपस से दर्शनशास्त्र की शिक्षा ग्रहण की और उसके बाद एथेन्स चले गए।

चाँद पर वायुमंडल न होने का कारण हैं

पलायन वेग

Note: भौतिकी में किसी वस्तु (जैसे की पृथ्वी) का पलायन वेग उस वेग को कहते हैं जिसपर यदि कोई दूसरी वस्तु (जैसे की कोई रॉकेट) पहली वस्तु से रवाना हो तो उसके गुरुत्वाकर्षण की जकड़ से बाहर पहुँच सकती है। यदि दूसरी वस्तु की गति पलायन वेग से कम हो तो वह या तो पहली वस्तु के गुरुत्वाकर्षक क्षेत्र में ही रहती है – या तो वह वापस आकर पहली वस्तु पर गिर जाती है या फिर उसके गुरुत्व क्षेत्र में सीमित रहकर किसी कक्षा में उसकी परिक्रमा करने लगती है।

हम रेडियो की घुण्ड़ी घुमाकर, विभिन्न स्टेशनों के प्रोग्राम सुनते हैं। यह संभव है

अनुनाद के कारण

Note: जब किसी अणु को केवल एक ही संरचना द्वारा पूर्ण रूप से व्यक्त न किया जा सके अपितु अणु के अभिलाक्षणिक गुणों की व्याख्या दो या दो से अधिक विभिन्न संरचनाओं द्वारा की जाये तो इन सभी संभावित संरचना सूत्र को कैनोनिकल सूत्र कहते है तथा इस घटना को अनुनाद कहते है

वेंचुरी मीटर से क्या पता करते हैं

पानी के प्रवाह की दर

Note: अभिसारी शंक्वाकार नली का बड़े व्यास वाला सिरा मुख्य पाइप से जोड़ा जाता है। इसे सिरे को वेन्चुरीमापी का प्रवेश (inlet) कहते हैं। अभिसारी नली का दूसरा कम व्यास वाला सिरा कण्ठ से जुड़ा जाता है। कण्ठ (throat) समान व्यास वाली एक छोटी नली होती है।

Leave a Comment