निम्न रक्तचाप Low Blood Pressure – कारण,लक्षण,उपाय

Spread the love

निम्न रक्तचाप का कारण: लंबे समय तक बीमार रहना, किसी गंभीर रोग से पीड़ित होना, नींद की कमी, भोजन में पोषक तत्वों की कमी, दिल का दौरा, सदमा आदि कारणों से निम्न रक्तचाप की शिकायत हो जाती है।

निम्न रक्तचाप का लक्षण

थकान, कमजोरी, चक्कर आना, बार-बार जम्हाई आना, नींद अधिक आना, काम में रुचि न होना, ये इस रोग के मुख्य लक्षण हैं।

निम्न रक्तचाप का घरेलू उपाय

निम्न रक्तचाप के रोगी को पोषक आहार लेना चाहिए। मुसम्मी, संतरे, अनार या गाजर का रस सुबह-शाम लेना चाहिए। अधिक परिश्रम वाला कोई कार्य ऐसे रोगियों को नहीं करना चाहिए, बल्कि पूर्ण विश्राम करना चाहिए जब तक कि रक्तचाप सामान्य न हो जाए।

निम्नलिखित औषधियों का प्रयोग निम्न रक्तचाप को चिकित्सा हेतु किया जा सकता है :

5-8 गुरबंदी बादाम व 3-4 काली मिर्चों को पीसकर एक चम्मच देसी घी में भूनें। जब भुन कर लाल हो जाए तो ऊपर से 7-8 किशमिश भी घी में छोड़ दें। ऊपर से लगभग 400 ग्राम दूध बरतन में डाल दें।

दस-पन्द्रह मिनट उबलने के बाद उतार लें। गुनगुना रह जाए तो पहले काली मिर्च, बादाम व किशमिश खूब चबाकर खाएं, ऊपर से दूध पी लें। यह प्रयोग सुबह-शाम करें। पहले दिन से ही रक्तचाप सामान्य होना शुरू हो जाएगा।

भोजन के बाद हींग युक्त छाछ का प्रयोग करें।

आंवलों का रस और शहद दो-दो चम्मच मिलाकर सुबह-शाम चाटें।

15-20 तुलसी की पत्तियों का रस व एक चम्मच शहद, एक कटोरी दही में मिलाकर लें।

टमाटर, अंगूर, पालक, गाजर, संतरा, चुकंदर का प्रयोग करें।

आयुर्वेदिक औषधियां

लौह भस्म, नवायस लौह, पुनर्नवा मंडूर; लोहासव, अभ्रक भस्म, हीरा भस्म आदि का प्रयोग निम्न रक्तचाप की चिकित्सा हेतु किया जा सकता है।

पेटेंट औषधियां

मैनोल (चरक), एमीरोन सीरप (एमिल), डिवाइन हैल्थ प्लस व हैल्थ एड कैप्सूल (बी.एम.सी. फार्मा)।

निम्न रक्तचाप Low Blood Pressure – कारण,लक्षण,उपाय

Leave a Comment