पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari in hindi

Spread the love

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari in hindi: जब सोच रखो पढ़ाई की, तो दुनिया है समझाई, शब्दों की खिड़की से अनकही कहानियाँ सुनाई।

पढ़ाई की मिठास जैसे गुड़ और चीनी, मन को भर देती है ज्ञान की मधुर सीरी। दोस्तों ऐसी ही आगे और भी पढ़ाई की शायरी padhai ki shayari है बहुत सारी

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari in hindi

पुस्तकों के समुंदर में डूबकर समझो बारी,
हर पन्ने पर जीवन की सत्यता हो खुद तारी।

बौद्धिक ज्ञान की नदी, जो बहती अविराम,
उसकी धारा में धूमिल हो जाता है काम।

सोच को उजागर करती है पढ़ाई की चिंता,
निराशा की रातों में जगमगाती अप्रतिम चिंता।

किताबों के बंधन से होता है मुक्ति का विलास,
बढ़ता है अग्रसर आत्मविश्वास और उमंग का विलास।

रटते नहीं हैं हम, बल्कि समझते हैं ज्ञान,
बढ़ते हैं उच्चतम पर्वतों की ऊँचाई यहां।

चाहे कितनी भी गहरी हो अंधकार की रात,
ज्ञान की किरण जगा देती है चेहरे की मुस्कान सारी बात।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

देश का उज्ज्वल भविष्य बनाती है ये पढ़ाई,
जीवन के प्रश्नों का उत्तर है ये अद्यापि।

ज्ञान की अनंत ऊचाई को छूने का इरादा,
जीवन को सुन्दर और महत्वपूर्ण बना देता है ये निर्माण।

पढ़ाई की ज्वाला से जलता है सबका आत्मविश्वास,
हर सपने को पुरा करने की देता है शक्ति और उत्साह।

चाहे अज्ञान की घाटी में हो अवस्था आपात,
पढ़ाई की छांव में होती है मोक्ष की स्वाधिकारी आप।

विज्ञान और गणित की जड़ों से युक्त,
निर्माण करता है व्यक्ति को सर्वोत्तम रूप में विकसित।

पढ़ाई की श्रद्धा से युक्त होती है शक्ति,
निर्माण करती है समाज को श्रेष्ठ विभूति।

परीक्षाओं के मैदान में हो विजयी तालाब,
जीत के फूल खिलाती है पढ़ाई की सरसी उदाहरण।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

दुनिया की कोई भी ऊँचाई नहीं है असंभव,
जब पढ़ाई का हो साथ और हो समर्पण।

पढ़ाई की रौशनी द्वारा होता है मन का विश्राम,
विचारों की बाढ़ से होता है ज्ञान का पाठ निराम।

ज्ञान की अनंत खान में खो जाओ बेख़बर,
हो जाओ अद्वितीय और आदर्श ज्ञानसागर।

पढ़ाई से बन जाओ स्वतंत्र और मुक्त,
हो जाओ अनन्त ज्ञान की नवीनतम पुकार।

चाहे समय की भारी मरीचिका चढ़ी हो आपके साथ,
पढ़ाई की साथी बनाए रखो हमेशा अच्छी सोच।

ज्ञान के वृक्ष की बाग़ और हो जाओ मालिक,
हो जाओ समृद्धि और विकास के स्वर्गीय अभिलाष।

पढ़ाई की मस्ती से लबों पर मुस्कान छाई,
नये रंग में रंगी हर एक सपना रंगीन दुनिया साथी।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

चाहे कितना ही हो बड़ा या छोटा सपना,
पढ़ाई की ऊँचाई से होती है संभवनाओं का उद्गम।

पढ़ाई की वीरता से लड़ती हैं हर परीक्षा,
पास करती हैं दिल से, नहीं सिर्फ़ नम्बरों से समझा।

जीवन के पुराने पथ पर जब अंधकार छाए,
पढ़ाई के सौभाग्य से आत्मा अभिज्ञान प्राप्त हो जाए।

स्वप्नों को उड़ान देती है ये शिक्षा,
जीवन में प्रगति का निर्माण करती है रक्षा।

ज्ञान की माला से जुड़ते हैं हर पुराने सवाल,
खोजते हैं उत्तर में सत्यता का बड़ाल।

चाहे रचनात्मकता हो या वैज्ञानिक तथ्य,
पढ़ाई है जीवन की जड़ी-बूटी, नहीं व्यर्थ अपभ्रंश।

प्रेरणा की काया और सामरिकता की सेना,
पढ़ाई है जीवन के आगे बढ़ने की तकनीका।

ज्ञान के सागर में हो जाओ अपार और आगे बढ़ो,
हो जाओ प्रकाश की ओर दिखाते हुए सबको आदर्श रवि।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

पढ़ाई है अद्भुत जुगाड़, हर परीक्षा की कुंजी,
मिलती है सच्ची सफलता और खुशियों की बूंदी।

पढ़ाई की आग में हो जाओ उन्नति की तपोभूमि,
बढ़ते जाओ ज्ञान के साथ अपने उद्देश्यों की ओर।

प्रेरणा के स्रोत के रूप में होती है ये पढ़ाई,
सपनों को पुरा करती है निर्माण की उड़ानी।

दुनिया के साथ बढ़ो, पढ़ाई के ज़रिए,
हो जाओ महान, हो जाओ स्वतंत्र और समृद्ध।

चाहे सपनों की छोटी सी कस्ती हो या बड़ा जहाज़,
पढ़ाई के हवाओं में होती है जीवन की पराजित हर आवाज़।

जीवन की मधुरता होती है इस रसीली पढ़ाई में,
होता है विश्वास की नयी उमंग जगाने में।

पढ़ाई की शिक्षा भरी धारा से बड़ी आंधी उठाओ,
अपनी किस्मत के सितारों को खुद ही बदल डालो।

ज्ञान की मिठास से हो जाओ सर्वत्र प्यारी,
बन जाओ पढ़ाई की अद्वितीय मोहिनी हमारी।

जब पढ़ाई की लौ से जल उठें सपने के दीप,
जीवन की यात्रा में हो जाए सबका विजयी प्रतीक।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

पढ़ाई की चादर से ढ़का जाए हर सपना,
हो जाए संगीत की ताल में जीवन का अनुपम रंग।

पढ़ाई की साथ चलो, बनाएं नये रथ पर यात्रा,
जीवन की मधुर सुरिली ध्वनि के साथ जगाएं खुद की यत्रा।

चाहे जीवन की धुंधली रात हो या उजाली सुबह,
पढ़ाई ही है जीवन का आधार, नहीं बनाती किसी को बेगाना।

ज्ञान के पहाड़ में हो जाओ वीर, जीतो हर युद्ध,
पढ़ाई है जीवन का संगीत, नहीं किसी का अपवाद।

चाहे खड़ी हो जितनी भी बाधाएं आपके सामने,
पढ़ाई है जीवन की शक्ति, बढ़ाती है अस्थायी का आधार।

ज्ञान की उमंग से जग उठेगा एक नया सुर,
पढ़ाई है जीवन की जड़, बढ़ाती है आपकी पहचान का आधार।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाईयाँ,
पढ़ाई है जीवन की मोहक कहानी, बढ़ाती है स्वार्थ से ऊँचा अभिमानी।

ज्ञान की ऊँचाई से हो जाएं आप सर्वोत्तम नेता,
पढ़ाई है जीवन की शोभा, नहीं किसी का नेताजी।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

पढ़ाई है जीवन की अद्वितीय कविता,
होती है ज्ञान की पूर्णता, नहीं किसी का चीनी।

चाहे जीवन की हो जितनी भी उलझनें,
पढ़ाई है जीवन की सुरक्षा, नहीं किसी का आंतरिक रथी।

ज्ञान की मद्देनज़र से हो जाओ संघर्ष का मारी,
पढ़ाई है जीवन की विजय, नहीं किसी का हारी।

पढ़ाई है जीवन की सुंदर दास्तान,
होती है ज्ञान की अद्वितीय ताकत, नहीं किसी की मुसीबतान।

ज्ञान की प्रकाशित नयी पुस्तक सी हो आपकी जिंदगी,
पढ़ाई है जीवन का नायक, नहीं किसी का साहसिक भारी।

चाहे जीवन की हो जितनी भी तूफ़ानी लहरें,
पढ़ाई है जीवन की नौका, नहीं किसी का टूटे दिल की कहानी।

ज्ञान की अमिट ज्योति से हो जाओ रोशन आपकी दुनिया,
पढ़ाई है जीवन की उजियाला, नहीं किसी का अँधेरा तमस्या।

पढ़ाई की शान में बढ़ें आपके सब सपने,
हो जाएं ज्ञान के सिपाही, नहीं किसी के मायने।

चाहे जीवन की हो जितनी भी दुर्घटनाएं,
पढ़ाई है जीवन की मजबूती, नहीं किसी की असुरक्षा।

ज्ञान की महासागर में हो जाओ बहुमुखी नाविक,
पढ़ाई है जीवन की सच्ची संगीता, नहीं किसी का गर्वनीय उत्साही।

चाहे जीवन की हो जितनी भी आँधी-तूफ़ान,
पढ़ाई है जीवन की सुखद बरकत, नहीं किसी का संकटकारी भयानक रथी।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

ज्ञान की अनंत ख़ुशबू से हो जाएं आपकी पहचान,
पढ़ाई है जीवन की गर्वित दिव्यता, नहीं किसी की निर्भीक अद्वितीयता।

चाहे जीवन की हो जितनी भी गहरी गहराइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की सुंदर रचना, नहीं किसी की उड़ानभरी उड़ानी।

ज्ञान की अद्वितीय सौरभ से हो जाएं आपकी बौद्धिकता,
पढ़ाई है जीवन की नयी पहचान, नहीं किसी की निराशा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की विजेता, नहीं किसी का हारी।

ज्ञान की ऊँचाई से हो जाएं आपके सपने पार,
पढ़ाई है जीवन की चरम गति, नहीं किसी की संघर्षपूर्ण धारा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी आगे बाधाएं,
पढ़ाई है जीवन की जीत, नहीं किसी की पराजय बाजी।

ज्ञान की मंजिल पर चढ़ो, हो जाओ नये उद्देश्य का सारथी,
पढ़ाई है जीवन की सुन्दर आवाज़, नहीं किसी की खोखलापन।

चाहे जीवन की हो जितनी भी आँधी-तूफ़ान,
पढ़ाई है जीवन की सुखद बरकत, नहीं किसी का संकटकारी भयानक रथी।

ज्ञान की अनंत ख़ुशबू से हो जाएं आपकी पहचान,
पढ़ाई है जीवन की गर्वित दिव्यता, नहीं किसी की निर्भीक अद्वितीयता।

चाहे जीवन की हो जितनी भी गहरी गहराइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की सुंदर रचना, नहीं किसी की उड़ानभरी उड़ानी।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

ज्ञान की अद्वितीय सौरभ से हो जाएं आपकी बौद्धिकता,
पढ़ाई है जीवन की नयी पहचान, नहीं किसी की निराशा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की विजेता, नहीं किसी का हारी।

ज्ञान की मंजिल पर चढ़ो, हो जाओ नये उद्देश्य का सारथी,
पढ़ाई है जीवन की सुन्दर आवाज़, नहीं किसी की खोखलापन।

चाहे जीवन की हो जितनी भी आँधी-तूफ़ान,
पढ़ाई है जीवन की सुखद बरकत, नहीं किसी का संकटकारी भयानक रथी।

ज्ञान की अनंत ख़ुशबू से हो जाएं आपकी पहचान,
पढ़ाई है जीवन की गर्वित दिव्यता, नहीं किसी की निर्भीक अद्वितीयता।

चाहे जीवन की हो जितनी भी गहरी गहराइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की सुंदर रचना, नहीं किसी की उड़ानभरी उड़ानी।

ज्ञान की अद्वितीय सौरभ से हो जाएं आपकी बौद्धिकता,
पढ़ाई है जीवन की नयी पहचान, नहीं किसी की निराशा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की विजेता, नहीं किसी का हारी।

ज्ञान की मंजिल पर चढ़ो, हो जाओ नये उद्देश्य का सारथी,
पढ़ाई है जीवन की सुन्दर आवाज़, नहीं किसी की खोखलापन।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

चाहे जीवन की हो जितनी भी आँधी-तूफ़ान,
पढ़ाई है जीवन की सुखद बरकत, नहीं किसी का संकटकारी भयानक रथी।

ज्ञान की अनंत ख़ुशबू से हो जाएं आपकी पहचान,
पढ़ाई है जीवन की गर्वित दिव्यता, नहीं किसी की निर्भीक अद्वितीयता।

चाहे जीवन की हो जितनी भी गहरी गहराइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की सुंदर रचना, नहीं किसी की उड़ानभरी उड़ानी।

ज्ञान की अद्वितीय सौरभ से हो जाएं आपकी बौद्धिकता,
पढ़ाई है जीवन की नयी पहचान, नहीं किसी की निराशा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की विजेता, नहीं किसी का हारी।

ज्ञान की मंजिल पर चढ़ो, हो जाओ नये उद्देश्य का सारथी,
पढ़ाई है जीवन की सुन्दर आवाज़, नहीं किसी की खोखलापन।

ज्ञान की उड़ान से ऊँचाईयों को छू जाएं,
बन जाएं विद्या के सितारे, खुद को खुद ही प्रमोट कराएं।

ज्ञान की प्रकाशित नयी पुस्तक सी हो आपकी जिंदगी,
पढ़ाई है जीवन की बड़ी धन की सुविधा, नहीं किसी का सबल।

चाहे जीवन की हो जितनी भी आँधी-तूफ़ान,
पढ़ाई है जीवन की सुखद बरकत, नहीं किसी का संकटकारी भयानक रथी।

पढ़ाई पर शायरी | Padhai par shayari

ज्ञान की अनंत ख़ुशबू से हो जाएं आपकी पहचान,
पढ़ाई है जीवन की गर्वित दिव्यता, नहीं किसी की निर्भीक अद्वितीयता।

चाहे जीवन की हो जितनी भी गहरी गहराइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की सुंदर रचना, नहीं किसी की उड़ानभरी उड़ानी।

ज्ञान की अद्वितीय सौरभ से हो जाएं आपकी बौद्धिकता,
पढ़ाई है जीवन की नयी पहचान, नहीं किसी की निराशा।

चाहे जीवन की हो जितनी भी कठिनाइयाँ,
पढ़ाई है जीवन की विजेता, नहीं किसी का हारी।

ज्ञान की मंजिल पर चढ़ो, हो जाओ नये उद्देश्य का सारथी,
पढ़ाई है जीवन की सुन्दर आवाज़, नहीं किसी की खोखलापन।

चाहे जीवन की हो जितनी भी मांड़ी घाटियाँ,
पढ़ाई है जीवन की सूर्योदय, नहीं किसी का अँधेरा तमस्या।

पढ़ाई है जीवन की नई सुनहरी कहानी,
होती है ज्ञान की पूर्णता, नहीं किसी का अपवाद।

पढ़ाई पर मोटिवेशनल शायरी

चलो नयी उचाईयों की ओर बढ़ें,
ज्ञान के सागर में अपनी लहर छोड़ें।
पढ़ाई की राह पर चलने के लिए तैयार हो जाओ,
ये सफ़र तुम्हारे अंदर की मिट्टी को सोचेगा।

जब भी हो थक जाओ अध्ययन से,
सोचो वो दिन जब सब आपके कदमों में होंगे।
मेहनत करो, संघर्ष करो, निरंतर यात्रा पर रहो,
तभी तुम अपनी मंज़िल को प्राप्त करोगे।

सच्चे मेहनती की अदा कोई नहीं हरा सकता,
जब भी हो नींद से ज्यादा तैयार हो जाओ।
ज़िन्दगी बहुत लंबी नहीं होती है,
पढ़ाई के सफ़र में समय को खोया नहीं करो।

ज्ञान की प्राप्ति तुम्हारी सीमा नहीं है,
चलो नये सितारों की ओर बढ़ते जाओ।
धैर्य और समर्पण से अपनी पढ़ाई करो,
सच्ची मेहनत का हर वक्त तुम्हारा साथ देगा।

चलते रहो पढ़ाई के रास्ते पर, न रुको कहीं,
सभी अवसरों को तुम अपने लिए छिनो।
करो अभ्यास, करो संघर्ष, न घबराओ कभी,
अगले सितारे को तुम पहले से भी उच्चतम बनाओ।

पढ़ाई पर फनी शायरी

पढ़ाई के दिन थक जाते हैं हम,
नज़रों में छाया रहता है नंद गोपाल का भ्रम।
बातें करते हैं हम लिखाई की,
पर दिमाग में तो सिर्फ मस्ती की होती है बारिश।

पढ़ाई की किताबें हैं ज़हर की बोतल,
सोने की नींद छीनती है ये कितनी ख़राब है।
पढ़ने की जगह हो बैठते हैं हम गुपचुप,
पर बजता है सोशल मीडिया का आधार कार्ड।

पढ़ाई करते हैं हम दिन रात,
पर तभी तो बनते हैं हम कॉफी के रातार।
नोटबुक और पेन की जोड़ी जमी हैं सरकारी नौकरी,
पर जेब में तो सिर्फ चटान की होती है विचारी।

जीवन के हर क्षण में पढ़ाई की आवाज़ है,
पर जब तक आता है नियमित ब्रेक, चलती रहेगी ये साज़।
टेस्ट और एक्जाम्स का जो ताना बाना है,
हम तो बस विश्राम की दुल्हनिया ढूंढ़ रहे हैं।

पढ़ाई करनी है, पर ये तो ख़ास बात है,
जब तक बर्फ़ गिरती है, हम तो सोने के ख़्वाब देखते हैं।
बाहर से तो दिखते हैं हम पढ़े लिखे पंडित,
असल में हम तो पढ़ाई के लिए लायक हैं जन्नत।

Leave a Comment