स्वप्नदोष के फायदे और नुकसान

Spread the love

स्वप्नदोष के कारण: रात्रि में सोते हुए वीर्य का स्खलित हो जाना स्वप्नदोष कहलाता है। स्त्री चिंतन अधिक करना, भोग-लालसा की अधिकता, मन में कामासक्ति के भाव रहना इस रोग के मुख्य कारण हैं। कब्ज व अजीर्ण आदि रोग इसके सहायक कारण हैं।

आधुनिक चिकित्सकों के मतानुसार तरुणावस्था में होने वाली यह एक सामान्य प्रक्रिया है, जिसे रोगों की श्रेणी में नहीं माना जाता। किंतु सप्ताह में कई बार स्वप्नदोष हो जाना निश्चय ही रोग की श्रेणी में आता है, जिसकी चिकित्सा अति आवश्यक है।

स्वप्नदोष की घरेलू चिकित्सा

चिकित्सा के पहले सूत्र के रूप में मन को कामासक्ति से हटाना है। निम्न औषधियों का प्रयोग इसमें लाभकारी है-

छोटी इलायची के बीज 1 भाग, सूखा धनिया 6 भाग व मिसरी 4 भाग को कूटकर चूर्ण बना लें। सुबह-शाम एक चम्मच की मात्रा में दूध के साथ लें।

हरड़ और सौंफ का समान भाग चूर्ण एक चम्मच गर्म दूध के साथ लें।

आधा चम्मच मुलेठी का चूर्ण, एक चम्मच शहद व दो चम्मच घी के साथ सुबह दूध के साथ लें।

गुलाब के फूलों की 20-30 पंखुड़ियां 10 ग्राम मिस्री के साथ सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करें।

गुलाब., शहतूत, गाजर या चंदन में से किसी एक का शरबत 2 मि.ली. प्रात: एवं सायं लें।

आंवले या गाजर का मुरब्बा 10-20 ग्रास सुबह-शाम सेवन करें।

बादाम व काली मिर्च की बनी ठंडाई का सेवन सुबह-शाम करें, इसमें मीठा न डालें।

पका हुआ एक केला छोटी इलायची के चुटकी भर चूर्ण के साथ सुबह-शाम लें।

बरगद के कच्चे फलों को छाया में सुखाकर पीस लें। इसका दो चम्मच चूर्ण सुबह गाय के दूध से लें।

इमली के भुने हुए बीजों का छिलका उतार कर बारीक पीस लें और समान भाग मिस्री मिला लें। एक चम्मच दवा प्रात: गाय के दूध से लें।

त्रिफला और जौ का एक-एक चम्मच चूर्ण लेकर रात को पानी में भिगो दें। सुबह उसका काढ़ा छानकर 2 चम्मच शहद के साथ प्रयोग करें।

ईसबगोल की भूसी और मिस्री समान मात्रा में लेकर मिलाएं और दो-दो चम्मच की मात्रा में प्रात: व सायं दूध के साथ लें।

अनार का छिलका सुखाकर कूट-पीसकर छान लें। एक से दो चम्मच तक चूर्ण गुलाब के शरबत के साथ दिन में तीन बार लें।

आयुर्वेदिक औषधियां

यष्ठीमधु चूर्ण, त्रिफला चूर्ण, रस सिंदुर, शिलाजीत, सितोपलादिचूर्ण, शतावर्यादिचूर्ण, शुक्र संजीवनी वटी, शक्रवल्लभ रस, मकरध्वज वटी, वसन्तकुसुमाकर रस, चन्द्रप्रभा वटी आदि।

पेटेंट औषधियां

डिवाइन हैल्थ प्लस कैप (बी.एम.सी. फार्मा), सीमेंटों (एमिल) व नियो गोलियां (चरक)।

स्वप्नदोष के फायदे और नुकसान

Leave a Comment