पेट की गैस का इलाज | पेट की गैस कैसे निकाले

Spread the love

पेट की गैस का इलाज | पेट की गैस कैसे निकाले: अगर आपके मन में भी कुछ इस तरह के सवाल है जैसे पेट की गैस का तुरंत इलाज क्या है या  पेट में गैस बहुत बनती है तो क्या करे या पेट में गैस क्यों बनती है

इसके क्या क्या उपाय करने चाहिए या खाना खाने के बाद पेट में गैस बनना या पेट में गैस बनना घरेलू उपाय etc जिनके आप जवाब जानना चाहते है तो ये आर्टिकल आपके लिए बहुत कारगर साबित होगा।

आजकल के मशीनी युग और भागदौड़ को जिंदगी में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो, जिसे गैस की परेशानी का अनुभव न हुआ हो। यह एक ऐसी बीमारी है, जो हर किसी को आसानी से जकड़ लेती है और बहुत परेशान करती है।

पेट में गैस क्यो बनती है?

हमारे शरीर से गैस बाहर निकलने के दी ही मार्ग है-पहला, मुंह से डकार के द्वारा और दूसरा, मलद्वार से अपान वायु के द्वारा।

अब यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि आखिर शरीर में गैस कहा से आती है? यह किन चीजों के सेवन से बनती है? वे कौन-कौन से कारण है, जिनकी वजह से यह तकलीफ भुगतनी पड़ती है?

गैस बनने के कई कारण होते है, जिनमें असयंमित होकर अनियमित आहार-विहार करना, अधिक खट्टे, तीखे, मिर्च मसालेदार, बादी पदार्थों का सेवन, शराव, चाय कॅाफी धूम्रपान की लत, प्राकृतिक वेगों को रोकना, समय पर न सोना, रात्रि-जागरण करना, भोजन में सलाद का अभाव, पानी कम पीना, चना उड़द, मटर, मूंग, आलू मसूर, चावल

आदि का अधिक सेवन करना, क्रोध शोक, चिंता जैसे मानसिक कारण, परिश्रम न करना यकृत रोग को उपस्थिति, मांसाहार का सेवन आदि।

पेट की गैस का इलाज | पेट की गैस कैसे निकाले

ये आर्टिकल छोटा जरूर है लेकिन इसमें जो टिप्स बताये गए है वो अच्छे डॉक्टरों की किताबो और उनकी राय से बताये गए है इसलिए ये टिप्स  आपके लिए कारगर साबित होंगे तो चलिए आगे पढ़ते है की pet ki gas ka permanent ilaj in हिंदी | पेट की गैस का परमानेंट इलाज क्या है, कैसे होता है और अपनी सेहत के साथ साथ अपने ज्ञान को भी बढ़ाते है

  • मानसिक तनाव, अशांति, भय, चिंता, क्रोध, द्वेष के कारण पाचन अंगों के आवश्यक पाचक रसों का स्राव कम हो जाता है, जिससे अजीर्ण को तकलीफ हो जाती है और अजीर्ण का विकृत रूप गैस की बीमारी पैदा करता है।
  • भोजन में मूंग चना, मसूर, मटर ,अरहर आलू, सेम, चावल तथा तेज मिर्च मसाले युक्त आहार अधिक मात्रा में सेवन न करें। शीघ्र पचने वाले आहार जैसे सब्जियां, खिचड़ी, चोकर सहित बनी आटे की रोटी, मट्ठा, दूध, तोरई, कद्दू, पालक, टिंडा, शलजम, अदरक, आंवला नींबू आदि का सेवन अधिक करना चाहिए।
  • भोजन खूब चबा-चबाकर आराम से करना चाहिए। बीच-बीच में अधिक पानी न पिएं। भोजन के दो घंटे बाद एक-दो गिलास पानी पिएं, थोड़ी भूख शेष रह जाए, उतना ही भोजन करें। दोनों समय के मुख्य भोजन के बीच हल्का नाश्ता फल आदि अवश्य खाएं। तले, गरिष्ठ भोजन से परहेज़ करें। भोजन सादा, सात्विक और प्राकृतिक अवस्था में सेवन करने का प्रयत्न करें। ठंडा और बासी भोजन करने से बचें। दिन भर में 8-10 गिलास पानी का सेवन अवश्य करें।
  • प्रतिदिन कोई न कोई व्यायाम करने की आदत बनाएं। शाम को घूमने जाएं। समय निकाल कर प्रात: भ्रमण करना श्रेष्ठ होता है। पेट के आसन से व्यायाम का पूरा लाभ मिलता है।
  • शराब, चाय, कॅाफी, तम्बाकू, गुटखा, सिगरेट जैसे व्यसन से बचें। प्राकृतिक वेगों को रोके रखने को आदत छोड़ें। दिन में सोना छोड़ दें और रात्रि को मानसिक परिश्रम से बचें।
  • एक चम्मच अजवाइन के साथ चुटकी भर काला नमक भोजन करने के बाद चबाकर खाने से पेट की गैस शीघ्र ही निकल जाती है।
  • अदरक और नींबू का रस एक-एक चम्मच की मात्रा में लेकर उसमें थोड़ा-सा नमक मिलाकर भोजन के बाद दोनों समय सेवन करने से गैस की सारी तकलीफें दूर हो जाती है और भोजन भी हजम हो जाता हैं।
  • भोजन करते समय बीच-बीच में लहसुन, हींग अल्प मात्रा में खाते रहने से गैस की तकलीफ नहीं होती।
  • हरड़, सोंठ का चूर्ण आधा-आधा चम्मच को मात्रा में लेकर उसमें थोड़ा-सा सेंधा नमक मिलाकर भोजन के बाद पानी से सेवन करने से पाचन ठीक प्रकार से होता है और गैस नहीं बनती।
  • नींबू का रस व मूली खाने से गैंस को तकलीफ नहीं होती और पाचन क्रिया सुधरती है।

इस प्रकार से यदि आप उपर्युक्त क्रियाविधि को अपनी दिनचर्या में शामिल करेंगे तथा उचित आहर-विहार का सेवन करेंगे तो नि:संदेह आप लंबी आयु प्राप्तकर सुखद जीवन व्यतीत कर सकेंगे।

Gas ka ilaj | पेट में गैस के लक्षण:

वैसे तो लोग हमको बहुत सारे तरीके बताते है लेकिन यहाँ आपको स्टेप बी स्टेप शोध की गयी विधि बताई जा रही है, ये विधि अपनाने से आपको जल्दी ही आराम मिलेगा और आप गैस जैसी दिक्कत से छुटकारा पा लोगे

इन उपायों से आप सामान्य रूप से होने वाले पेट दर्द को आसानी से ठीक कर लोगे है तो ये उपाय घर पर रहकर यानी ( घरेलू चीजों से ) पेट दर्द कैसे ठीक होगा इसके उपाय है

पेट में गैस भरी हुई मालूम होना, पेट और पीठ में दर्द, आंतों में गड़गड़ाहट, दस्त साफ न होना, ठीक से नींद न आना, आलस्य व थकावट सिर दर्द, भूख खुलकर न लगना दिल की धड़कन बढ़ना, डकारें आना, छाती में जलन, सिर चकराना नाड़ी दुर्बलता, डकार और गुदा से गैस निकलने पर तकलीफ में आराम आना जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं।

Gas ka ilaj | पेट में गैस हो तो क्या खाना चाहिए:

:- अगर आपका पेट दर्द होता है और आपको लगता है की गैस सम्बन्धी दिक्कत है तो तवे पर सीखे (भूनना) हुवे जीरे को काले नमक या सेंधा नमक में मिलाकर खाने से चुटकियो में पेट दर्द गायब हो जायेगा | एक बार ये उपाय करके देखे बहुत अच्छा उपाय है!

१ तवे पर सीखे (भूनना) हुवे अजवायन को गुनगुने पानी में मिलकर पिजाये यह बेहद फायदेमंद होता है |

हरा पुदीना की 5 बूंद को एक कप पानी में मिलकर पिये इससे पेट को जल्दी ही आराम मिलता है |

३ अगर आप अनार को काले नमक में मिलकर खाए तो इससे भी पेट दर्द में आराम मिलता है, बहुत लोगो को यह अक्सर पता नहीं होता है |

अदरक वाली चाय पिए यह बहुत गुणकारी होती है |

५ सौफ से आप अपच सम्बन्धी पेट दर्द ठीक कर सकते है |

६ दही में अच्छे पॉजिटिव (Good Positive) बैक्टीरिया पाए जाते है ये अपच के उपचार में लाभकारी है |

उमीद है इससे आपको लाभ हुआ होगा और पेट दर्द में आराम मिलेगा |

इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगो के साथ शेयर करे ताकि साथ साथ उन्हें भी इनका फायदा मिल सके |

दोस्तों आपको Gas ka ilaj | Pet ki gas kaise nikale आर्टिकल अच्छा लगा हो तो हमारे पिनटेरेस्ट (Pinterest) पेज को फॉलो करे हम कुछ भी नया अपडेटेड (Updated) आर्टिकल पोस्ट करने से पहले वहा बताते है या अपडेट कर देते है ऊपर (Pinterest) का बटन है उसपर क्लिक करके आप हमारे पेज पर जा सकते है वह आपको और नयी नयी जानकारी प्राप्त होगी

पेट की गैस का इलाज | पेट की गैस कैसे निकाले

Leave a Comment